मठरी रेसिपी (पंजाबी मठरी)

रेसिपी को English में पढ़े

पंजाबी मठरी रेसिपी (Mathri Recipe in Hindi) – यह पंजाब का एक पारम्परिक नाश्ता है जो दिवाली या करवा चौथ पर बनाया जाता है। यह एक प्रख्यात नाश्ता है जो चाय के साथ बढ़िया लगता है।

मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

कई और तले हुए नाश्ते की तरह यह मठरी भी लम्बे समय तक अच्छी रहती है। इसीलिए इसे सफ़र या यात्रा के दौरान ले जा सकते है। साथ में एक कप चाय या कॉफ़ी हो या फिर चटनी या आचार हो तो मज़ा ही आ जाए।

कभी कबार मैं मेथी मठरी भी बनाती हूँ।

इसके जैसी ही एक और रेसिपी है जिसे फरसी पूरी बोलते है जो एक गुजराती नाश्ता है। इन दोनों में सामग्री और विधि लगभग एकसमान है। सिर्फ एक फर्क है फरसी पूरी के आटे में घी का इस्तेमाल होता है वही दूसरी और मठरी में तेल का इस्तेमाल होता है। एक और फर्क है फरसी इसकी तुलना थोड़ी से पतली होती है।

यह खाने में कुरकुरी होने के साथ खस्ता भी है। इसके लिए रेसिपी में आटा और तेल में मात्रा एकदम सही होनी चाहिए। साथ में इसे धीमी आंच पर तला जाता है।

इसका आटा है जो मैदे और सूजी से बनता है और हम एकदम सख्त आटा बनाते है। तेल को मैदे में उंगलियों की मदद से मिलाया जाता यह स्टेप बहोत ही महत्वपूर्ण है। इसीलिए धीरज से इसे अच्छे से मिलाये। इससे मठरी एकदम खस्ता बनती है।
बाद में इससे छोटी छोटी लोइयाँ बनाकर बेली जाती है। बेली हुई पूरी के ऊपर कांटा चम्मच से छेद किये जाते है ताकि तलते समय यह फुले ना।

अन्य दिवाली के नाश्ते
चकली // नमक पारे // चिवड़ा नमकीन // मकाई पोहा चिवड़ा


विधि | मठरी कैसे बनाये?
How to make Mathri Recipe in Hindi (step by step photos)


or Jump to Recipe

1) एक बाउल में मैदा, सूजी, अजवाइन और नमक ले।

2) इसे मिक्स करे।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

3) बाद में तेल डाले।

4) उसे उँगलियों की मदद से मैदे में अच्छे से मिला ले। यह ब्रेडक्रम्ब्स की तरह दिखेगा। अगर थोड़ा सा आटा उठाकर इसे हथेली के बिच दबाएंगे तो वह एक लोई की तरह एकसाथ आ जायेगा।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

5) अब थोड़ा थोड़ा करके पानी डाले और एकदम सख्त आटा गूंदकर तैयार करे। इसके मैंने सिर्फ 4 ½ टेबल स्पून जितना पानी लिया है। इसे ढककर 15 मिनट के लिए छोड़ दे।

6) उस दौरान साबुत काली मिर्च को खाल बट्टे में ले और इसे 1 या 2 बार ही कुटे। इसे मोटा ही रखना है पाउडर नहीं बनाना है।

7) 15 मिनट के बाद आटे को फिर से एक दो बार मसल ले। इसे बराबर से 15 हिस्सों में बाँट ले। इसके गोले बनाकर, हथेली के बिच दबाकर लोइयां बना ले।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

8) अब बेलन की मदद से 2 से 2 ½ इंच के व्यास के गोल आकार में बेले। यह थोड़ी सी मोटी रहेगी नाकि पूरी की तरह पतली।

9) अब काली मिर्च के तीन टुकड़े ले और इसे मठरी के पर चिपकाये।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

10) बेलन से एक बार हलके से बेलकर इसे ठीक से चिपका दे। ताकि तलते समय यह तेल में निकलकर गिर ना जाए।

10) अब काँटा चम्मच की मदद से छेद बना ले, पलटकर दूसरी और भी छेद बना ले ताकि यह तलते समय फुले ना।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

11) इसी तरह सारी लोइयां बेल ले। जब कुछ 5-6 मठरियाँ तैयार हो जाए तब एक कड़ाही में तलने के लिए मध्यम से कम आंच पर तेल गरम करे।

12) तेल का तापमान मध्यम से कम रहना चाहिए। तेल को पकोड़े तलते समय गरम करते है उतना गरम ना करे। तेल को कैसे चेक करे? आटे से एक बून्द जितना हिस्सा ले और इसे तेल में डाले। वह थोड़ी देर तेल के तले में ही रहेगा। कुछ सेकंड के बाद यह तैरकर ऊपर आएगा। मतलब की तेल तलने के लिए तैयार है। अगर वह एकदम झट से ऊपर तैरने लगता है मतलब की तेल ज्यादा गरम है।

13) कुछ मठरियां तेल में डाले। तलने के दौरान तेल का तापमान बरक़रार रखने के लिए गैस की आंच को जरुरत के हिसाब से कम धीमा करे। अगर तेल का तापमान कम रहेगा तो यह ज्यादा तेल चूस लेगी। अगर तेल का तापमान ज्यादा रहेगा तो यह जल्द से सुनहरी हो जायेगी पर बिच में से कच्ची रहेगी।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

14) बिच बिच में इसे पलटते रहे ताकि दोनों और एकसमान पके। जैसे ही यह तैयार होगी आपको हल्का सा गुलाबी या सुनेहरा रंग दिखेगा। एक बार की मठरियां तलने में तक़रीबन 7-8 मिनट लगेंगे इसीलिए धीरज से काम ले। जब तैयार हो जाए तब कड़छी से निकाले।

15) और पेपर टॉवल बिछाये हुए प्लेट में रखे। जैसे यह ठंडी होगी यह ज्यादा कुरकुरी बनेगी।
मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

इसी तरह बाकि की तल ले। इसे पूरी तरह ठंडा होने दे बाद में हवाबंद डिब्बे में भरकर रखे। यह 15-20 दिनों तक अच्छी रहेगी।

कैसे परोसे? : इसे दोपहर के नाश्ते या सुबह के नाश्ते में गरमा गरम चाय के साथ खाये। इसे चटनी या आचार के साथ भी खाया जाता है।

मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

मठरी बनाने की विधि (Mathri Recipe in Hindi), पंजाबी मठरी रेसिपी

सामग्री नापने का कप (1 कप = 240 मिली लीटर)

Course नाश्ता
Cuisine भारतीय
Prep Time 20 minutes
Cook Time 20 minutes
Total Time 40 minutes
Yield 15 नंग
Author कानन

Ingredients (1 cup = 240 ml)

  • 1 कप मैदा
  • 2 टेबल स्पून रवा (सूजी)
  • ½ टीस्पून अजवाइन
  • नमक स्वाद के अनुसार
  • 3 टेबल स्पून तेल + ज्यादा तलने के लिए
  • 4-5 टेबल स्पून पानी
  • 1 टीस्पून साबुत काली मिर्च (खल बट्टे में सिर्फ 1 या 2 बार कुटे)

Instructions

आटा बनाने की विधि:

  1. एक बाउल में मैदा, सूजी, अजवाइन और नमक को मिक्स करे।
  2. इसमें तेल डालकर, उँगलियों की मदद से अच्छे से मिला ले। यह दिखने में दरदरा होगा।
  3. अब थोड़ा थोड़ा करके पानी डाले और एकदम सख्त आटा गूंदकर तैयार करे।
  4. इसे ढककर 15 मिनट के लिए रख दे।
  5. अब काली मिर्च को खल बट्टे में लेकर सिर्फ 1-2 बार कूटकर मोटा ही रखे, पाउडर ना बनाये।

मठरी बनाने की विधि:

  1. आटे को एक दो बार मसल ले और बराबर से 15 हिस्सों में बांटकर लोइयां बना ले।
  2. एक लोई ले और इसे 2 से 2 ½ इंच व्यास के गोल आकार में बेले।
  3. अब तीन काली मिर्च के टुकड़े ले और इसके ऊपर चिपकाए। बेलन से एक बार चलाकर ठीक से चिपका दे।
  4. अब काँटा चम्मच की मदद से दोनों और छेद बना ले। इसी तरह बाकी की तैयार करे।
  5. एक और कड़ाही में मध्यम से कम आंच पर तेल को गरम होने के लिए रखे।
  6. गरम तेल में कुछ मठरियां डाले और दोनों और से सुनहरी होने तक तले. एक बार में तक़रीबन 7-8 मिनट लगेंगे। तलते दौरान तेल का तापमान मध्यम से कम होना चाहिए इसके लिए जरुरत के हिसाब से गैस की आंच को कम ज्यादा करे।
  7. इसी तरह बाकी की तलकर तैयार करे। पूरी तरह ठंडा होने के बाद डिब्बे में भरे।

Add Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

2 Comments

  1. shrishty
Pin
Share
0 Shares